Home Blog

Central authorities stated, 19 states restoration fee from Corona is healthier than nationwide common, know which names are included – केंद्र सरकार ने कहा, 19 राज्यों में कोरोना से ठीक होने की दर राष्ट्रीय औसत से बेहतर, जानें कौन-कौन से नाम हैं शामिल

0


जिन राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों में मरीजों के ठीक होने की दर राष्ट्रीय दर से ज्यादा है उनमें…(फाइल फोटो-पीटीआई)

नई दिल्ली:

केंद्र ने मंगलवार को कहा कि 19 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में कोविड-19 से मरीजों के ठीक होने की दर राष्ट्रीय औसत 63.02 प्रतिशत से बेहतर है. केंद्र ने कहा कि उसके द्वारा राज्य सरकारों के समन्वय में उठाए गए कदमों से मरीजों के ठीक होने की दर में “क्रमिक बढ़ोतरी” हुई. उसने यह भी कहा कि देश के 30 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में कोविड-19 के कारण मृत्युदर राष्ट्रीय औसत 2.64 प्रतिशत से नीचे है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि घर पर पृथकवास के नए नियमों और मानकों तथा ऑक्सीमीटरों के इस्तेमाल ने बिना लक्षण वाले या हल्के लक्षण वाले मरीजों पर नियंत्रण रखने में मदद की और अस्पतालों पर बोझ भी नहीं बढ़ा. मंत्रालय ने कहा, “कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिये केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा उठाए गए अति-सक्रिय, पूर्वानुमानित और समन्वित कदमों से कोविड-19 से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या में क्रमित बढ़ोतरी हुई.” इसमें कहा गया कि जांच में इजाफा और समय पर निदान से कोविड-प्रभावित मरीजों के बीमारी के अग्रिम चरण में जाने से पहले ही पहचान हो जाती है.

मंत्रालय ने कहा कि निषिद्ध क्षेत्रों और निगरानी कार्यक्रमों को प्रभावी तरीके से लागू करने से यह सुनिश्चित हुआ कि संक्रमण की दर नियंत्रण में रहे. इसमें कहा गया कि एक श्रेणीबद्ध नीति और समग्र दृष्टिकोण के कारण बीते 24 घंटों के दौरान 18,850 मरीज ठीक हुए जिससे देश में इस महामारी से अब तक ठीक होने वाले लोगों की कुल संख्या बढ़कर 5,53,470 हो गई. मंत्रालय ने कहा कि ठीक होने की दर में भी सुधार हुआ है और अब यह 63.02 प्रतिशत है, और 19 राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों में मरीजों के ठीक होने की दर राष्ट्रीय औसत से ज्यादा है.

जिन राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों में मरीजों के ठीक होने की दर राष्ट्रीय दर से ज्यादा है उनमें लद्दाख (85.45 प्रतिशत), दिल्ली (79.98 प्रतिशत) उत्तराखंड (78.77 प्रतिशत), छत्तीसगढ़ (77.68 प्रतिशत), हिमाचल प्रदेश (76.59 प्रतिशत), हरियाणा (75.25 प्रतिशत), चंडीगढ़ (74.6 प्रतिशत), राजस्थान (74.22 प्रतिशत), मध्य प्रदेश (73.03 प्रतिशत) और गुजरात (69.73 प्रतिशत) शामिल हैं.

इसके अलावा त्रिपुरा (69.18 प्रतिशत), बिहार (69.09 प्रतिशत), पंजाब (68.94 प्रतिशत), ओडिशा (66.69 प्रतिशत), मिजोरम (64.94 प्रतिशत), असम (64.87 प्रतिशत), तेलंगाना (64.84 प्रतिशत), तमिलनाडु (64.66 प्रतिशत) और उत्तर प्रदेश (63.97 प्रतिशत) में भी मरीजों के ठीक होने की दर राष्ट्रीय औसत से ज्यादा है.

मंत्रालय ने कहा कि देश में इस समय कोविड-19 के 3,01,609 मरीज उपचाराधीन हैं और अस्पतालों, कोविड देखभाल केंद्रों या घर पर पृथक-वास में चिकित्सकों की निगरानी में हैं. इसमें कहा गया कि उपचाराधीन मामलों से ठीक हो चुके मरीजों की संख्या 2,51,861 ज्यादा है. जिन 30 राज्यों और केंद्र शासित क्षेत्रों में कोविड-19 के कारण मृत्यु दर राष्ट्रीय औसत 2.64 प्रतिशत से कम है उनमें लद्दाख, त्रिपुरा, असम, केरल, छत्तीसगढ़, ओडिशा, अरुणाचल प्रदेश, गोवा, मेघालय, झारखंड, बिहार, हिमाचल प्रदेश, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, पुडुचेरी, उत्तराखंड, तमिलनाडु, हरियाणा, चंडीगढ़, जम्मू-कश्मीर, कर्नाटक, राजस्थान, पंजाब और उत्तर प्रदेश शामिल हैं.

कोरोना ने तोड़ा रिकॉर्ड, 24 घंटे में सबसे ज्यादा मामले

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Source link

#Indiansocialmedia
इंडियन सोशल मीडिया Hi, Please Join This Awesome Indian Social Media Platform ☺️☺️

Indian Social Media


Kamalbook
Kamalbook Android app : –>>

Indian Social Media App

अर्न मनी ऑनलाइन 👌🏻📲💵💴💰💰✅

Bharatiya Tribal Social gathering withdraws assist from Congress in Rajasthan Ashok Gehlot Sachin pilot – राजस्थान में सियासी उठापटक के बीच भारतीय ट्राइबल पार्टी ने कांग्रेस की गहलोत सरकार से वापस लिया समर्थन

0


Rajasthan News: राजस्थान की गहलोत सरकार से भारतीय ट्राइबल पार्टी (Bharatiya Tribal Party) ने वापस लिया समर्थन.

नई दिल्ली:

Rajasthan News: राजस्थान में जारी सियासी उठापटक के बीच भारतीय ट्राइबल पार्टी (Bharatiya Tribal Party) ने कांग्रेस (Congress) की अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) सरकार से समर्थन वापस ले लिया है. भारतीय ट्राइबल पार्टी के अध्यक्ष महेश भाई वसावा ने अपनी पार्टी के दोनों विधायकों को पत्र लिखकर निर्देश दिया और कहा कि विधानसभा में फ़्लोर टेस्ट के समय वे न तो कांग्रेस को, ना अशोक गहलोत (Ashok gehlot) को, ना सचिन पायलट (Sachin pilot) को और ना ही बीजेपी (BJP) को वोट करें. दोनों विधायकों को वोटिंग के दौरान एबसेंट रहने को कहा गया है. पार्टी ने साथ-साथ निर्देश न मानने पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की भी चेतावनी दी है. बता दें कि भारतीय ट्राइबल पार्टी के दो विधायक हैं.

cd6lk9ag

यह भी पढ़ें

वहीं, तमाम उठापटक के बाद राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत फिलहाल अपनी सरकार बचाने में कामयाब रहे हैं. उपमुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट की बगावत रंग लाती नहीं दिख रही है. बीजेपी ने पायलट से दूरी बना ली है और कल तक तीस विधायकों का दावा कर रहे पायलट अपने खेमे में मुश्किल से 15-20 विधायक ही जुटा पाए हैं. कांग्रेस की ओर से पायलट को मनाने और समझौते के संकेत मिल रहे हैं. राहुल गांधी के करीबियों का कहना है कि सचिन से बातचीत होती रहती है.

सुरजेवाला का कहना है कि परिवार के झगड़े परिवार में ही सुलझा लेने चाहिए. पर गहलोत की मुश्किलें अभी खत्म नहीं हुई हैं. उनका दावा 109 विधायकों के समर्थन का था, लेकिन उनके घर हुई विधायक दल की बैठक में सौ विधायक ही जुटे. कुछ निर्दलीय और अन्य छोटी पार्टियों के विधायकों के समर्थन का भी दावा है. पायलट की ही तरह गहलोत भी अपने विधायकों की खेमेबंदी कर रहे हैं. उन्हें जयपुर के बाहर एक रिजॉर्ट में ले जाया गया है.

VIDEO: देस की बात रवीश कुमार के साथ: सरकार भी बच गई, पायलट भी बच गए?

Source link

#Indiansocialmedia
इंडियन सोशल मीडिया Hi, Please Join This Awesome Indian Social Media Platform ☺️☺️

Indian Social Media


Kamalbook
Kamalbook Android app : –>>

Indian Social Media App

अर्न मनी ऑनलाइन 👌🏻📲💵💴💰💰✅

Congress chief Rahul Gandhi tweets Amid Rajasthan Political Disaster – राजस्‍थान में सत्‍ता संकट के बीच राहुल गांधी ने दार्शनिक अंदाज में यूं कही मन की बात..

0


राहुल गांधी ने राजस्‍थान संकट को लेकर इशारों-इशारों में अपनी बात रखी है

नई दिल्ली:

Rajasthan Political Crisis: राजस्‍थान में सचिन पायलट (Sachin Pilot) के बगावती तेवरों ने कांग्रेस और यहां सत्‍ता पर काबिज अशोक गहलोत की सरकार के सामने मुश्किल खड़ी कर दी है. ऐसे समय जब कांग्रेस राजस्‍थान में सत्‍ता बचाने और ‘नाराज’ सचिन पायलट को मनाने की कवायद में जुटी है, पार्टी के प्रमुख नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) दार्शनिक अंदाज में नजर आए. उन्‍होंने दो ट्वीट करके इशारों-इशारों में राजस्‍थान के घटनाक्रम को लेकर बात की. राहुल ने अपने पहले ट्वीट में लिखा ‘आज भारतीय समाचार माध्यमों के एक बड़े हिस्से पर फासीवादी हितों ने कब्जा कर लिया है. टीवी चैनलों, वॉटसएस फॉरवर्ड और झूठी खबरों द्वारा एक नफरत भरी कहानी फैलाई जा रही है.’

यह भी पढ़ें

एक अन्‍य ट्वीट में कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष ने लिखा-मैं अपने वर्तमान मामलों, इतिहास और संकट के बीच सत्य में रुचि रखने वालों के लिए स्पष्ट और सुलभ बनाना चाहता हूं. कल से, मैं आपके साथ वीडियो पर अपने विचार शेयर करूंगा.’

राजस्‍थान में सत्‍ता पर काबिज कांग्रेस के लिए मुश्किल उस समय शुरू हुई जब पिछले कुछ समय से सीएम अशोक गहलोत के खिलाफ विरोध का झंडा बुलंद किए हुए उप मुख्‍यमंत्री सचिन पायलट ने रविवार शाम को 30 विधायकों के समर्थन का दावा किया. उन्‍होंने अपने लिए सीएम पद और अपने विश्‍वस्‍तों के लिए प्रमुख विभागों की मांग की थी. इसके बाद, सोमवार सुबह अपने निवास पर मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत ने शक्ति प्रदर्शन किया. गहलोत ने दावा किया कि उनके पास 106 विधायक हैं. इन विधायकों को बीजेपी या पायलट की ओर से किसी संभावित टूट से बचाने के लिए एक रिसोर्ट में रखा गया है. पायलट और उनके कुछ विश्‍वस्‍त विधायक गहलोत की इस अहम बैठक में मौजूद नहीं थे.

राजस्थान में इस सियासी संकट के बीच जयपुर पहुंचे कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि अगर किसी को भी किसी पद या प्रोफाइल से समस्या है तो उन्हें पार्टी फ़ोरम पर आकर अपनी आवाज़ उठानी चाहिए. हम मिलकर इसका समाधान करेंगे और अपनी सरकार को राज्य में मज़बूत बनाएंगे. उन्होंने कहा कि व्यक्तिगत प्रतिस्पर्धा वाज़िब हो सकती है लेकिन अपनी बात को पार्टी फ़ोरम पर रखा जाए. वैचारिक मतभेद की वजह से अपनी ही चुनी हुई सरकार को कमज़ोर करना या बीजेपी को ख़रीद-फ़रोख़्त का मौक़ा देना अनुचित है.

मीडिया रिपोर्ट के हवाले से बताया जा रहा था कि सचिन पायलट आज शाम राजस्‍थान के सियासी संकट के मसले पर पूर्व कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात करेंगे लेकिन सचिन से इससे इनकार किया. अपने भावी कदम को लेकर तमाम अटकलबाजियों पर विराम लगाते हुए सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने साफ कर दिया है कि वह बीजेपी (BJP) में शामिल नहीं होंगे. राजस्‍थान में कांग्रेस में चल रहे इस सियासी घमासान को बीजेपी अपने लिए अवसर के रूप में देख रही है.

वीडियो: बसों में रिसॉर्ट ले जाए गए कांग्रेस विधायक, अपने दावे पर अडिग सचिन पायलट



Source link

#Indiansocialmedia
इंडियन सोशल मीडिया Hi, Please Join This Awesome Indian Social Media Platform ☺️☺️

Indian Social Media


Kamalbook
Kamalbook Android app : –>>

Indian Social Media App

अर्न मनी ऑनलाइन 👌🏻📲💵💴💰💰✅

Sharad Pawar Ought to Kind Authorities With BJP In Maharashtra, Says Ramdas Athawale – अठावले ने शरद पवार को महाराष्ट्र में सरकार बनाने का सुझाया नया फॉर्मूला, BJP में शामिल हो जाएं और…

0


केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

केंद्रीय मंत्री और रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (RPI) के अध्यक्ष रामदास आठवले (Ramdas Athawale) ने NCP अध्यक्ष शरद पवार (Sharad Pawar) से अनुरोध किया कि वह राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) में शामिल हों और महाराष्ट्र में उनकी पार्टी और भाजपा के साथ मिलकर सरकार बनाएं. NCP अभी कांग्रेस और शिवसेना के साथ गठबंधन में महाराष्ट्र में सरकार चला रही है.

यह भी पढ़ें

NCP सुप्रीमो शरद पवार का खुलासा- 2014 में चली थी शिवसेना को BJP से दूर करने की ‘चाल’ लेकिन…

ट्विटर पर डाले गए वीडियो में अठावले ने कहा कि कांग्रेस (Congress) और शिवसेना (Shiv Sena) के साथ NCP का गठबंधन उसके लिए फायदेमंद नहीं है. उन्होंने वीडियो में कहा, ‘NCP के शिवसेना को समर्थन देने के फैसले से उसको कोई फायदा नहीं होने वाला. अगर पवार साहेब (NCP अध्यक्ष शरद पवार) देश का विकास और महाराष्ट्र के विकास के लिए केंद्र से और कोष चाहते हैं तो उन्हें (प्रधानमंत्री) नरेंद्र मोदी जी के समर्थन का फैसला लेना चाहिए और उन्हें राजग में शामिल होने के बारे में सोचना चाहिए.’

NCP चीफ शरद पवार ने भारत के लिए ‘पाकिस्तान से बड़ा खतरा चीन’ को बताया, कहा…

अठावले ने कहा, ‘अगर यह महाराष्ट्र में होता है तो भाजपा, आरपीआई और राकांपा गठबंधन बना सकते हैं.’ सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री अठावले ने कहा, ‘…तब यहां (महाराष्ट्र) सरकार अच्छे से चलेगी और केंद्र महाराष्ट्र के विकास के लिये और धन आवंटित करेगा. यह शरद पवार से मेरा अनुरोध है कि वो राजग में शामिल होने के बारे में फैसला लें.’

VIDEO: महाविकास अघाडी में सब कुछ ठीक नहीं?

Source link

#Indiansocialmedia
इंडियन सोशल मीडिया Hi, Please Join This Awesome Indian Social Media Platform ☺️☺️

Indian Social Media


Kamalbook
Kamalbook Android app : –>>

Indian Social Media App

अर्न मनी ऑनलाइन 👌🏻📲💵💴💰💰✅

Australian Kangaroo Rat having fun with strawberry with mom Video goes viral On Social Media

0


कंगारू की तरह अपने बच्चे को पेट की थैली में रखता है यह चूहा

सोशल मीडिया (Social Media) पर चूहे (Potoroo) जैसा दिखने वाला जानवर और उसके बच्चे का स्ट्राबेरी खाते हुए वीडियो काफी तेजी से वायरल (Viral Video) हो रहा है. आपको बता दें कि इस वीडियो में जो जानवर दिख रहा है उसका नाम है पोटोरू. पोटोरू (Potoroo) अस्ट्रेलिया में पाया जाने वाला जानवर है जो दिखने में बिल्कुल चूहे की तरह दिखता है लेकिन वह कंगारू की तरह पेट की थैली में अपने बच्चे को रखकर घुमता है. आप इस वीडियो में आराम से देख सकते हैं कि किस तरह से यह पोटोरू जानवर स्ट्राबेरी खा रही है और उसके पेट की थैली में बैठा बच्चा भी आराम से स्ट्राबेरी खाता हुआ नजर आ रहा है. 

यह भी पढ़ें

 सबसे हैरानी वाली बात यह है कि इस वीडियो को जब आप शुरुआत में देखेंगे तो आपको यह जानवर बिल्कुल चूहे की तरह दिखाई देगी साथ ही पेट की थैली में बैठा बच्चा तो बिल्कुल दिखाई तक नहीं देगा लेकिन जब आप ध्यान से देखेंगे तो पोटोरू का बच्चा आराम से स्ट्राबेरी खाता हुआ नजर आएगा. 

आपको बता दें कि वैसे तो यह वीडिया एक साल पुरानी है यानि यह वीडियो साल 2019 की है लेकिन सोशल मीडिया पर एक बार फिर से शेयर करने के बाद यह वायरल हो रही है. आपको बता दें कि इस वीडियो को इंडियन फॉरेस्ट ऑफिसर सुधा रामेन ने अपने ट्विटर हैंडल से शेयर किया है. शेयर करने के बाद से ही इस वीडियो पर लोगों का कमेंट आना जारी है. आपको बता दें कि इस वीडियो को अब तक 4 हजार से अधिक बार देखा जा चुका हैं. वहीं इस वीडियो को अब तक 100 से अधिक रिट्वीट और 500 से अधिक लाइक्स आ चुके हैं. सिर्फ इतना ही नहीं इस वीडियो पर कई हजार कमेंट भी आ चुके हैं. एक यूजर ने कमेंट करते हए लिखा… यह बेहद क्यूट वीडियो है. वहीं एक यूजर ने लिखा मां और बच्चे का यह वीडियो बेहद प्यारा है.



Source link

#Indiansocialmedia
इंडियन सोशल मीडिया Hi, Please Join This Awesome Indian Social Media Platform ☺️☺️

Indian Social Media


Kamalbook
Kamalbook Android app : –>>

Indian Social Media App

अर्न मनी ऑनलाइन 👌🏻📲💵💴💰💰✅

error: Content is protected !!
Live Updates COVID-19 CASES